Style Switcher

शब्द का आकार बदलें

A- A A+

भाषायें

उत्तरदायित्व

समाज कल्याण विभाग के दायित्व

समाज कल्याण विभाग का दायित्व है व्यक्ति को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना एवं समाज के ऐसे तबकों को लाभान्वित करना जो शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, आर्थिक या किसी भी कारण से परेशानी में हों। विभाग द्वारा ऐसी योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिससे वरिष्ठ नागरिकों, निःशक्तजनों, विधवा एवं परित्यक्त महिलाओं, विधि अवरूद्ध एवं देखरेख की अपेक्षा रखने वाले बच्चों को सहयोग प्रदान किया जा सके। इन दायित्वों के निर्वहन हेतु विभाग अन्तर्गत विभिन्न अधिनियम प्रभावशील है, जिनकी अपेक्षाओं की सम्प्राप्ति के लिए विभाग अपने सीमित संसाधनों के अनुरूप समाज के अन्तिम व्यक्ति तक अधोलिखित सेवाएं प्रदान कर रहा है।

  1. वरिष्ठ नागरिकों को सम्मानपूर्वक जीवन यापन हेतु सहायता तथा तीर्थाटन की व्यवस्था।
  2. विधवा / परित्यक्त महिलाओं की अधिकारिता विकास में सहयोग।
  3.  गरीब परिवारों को उनके कमाऊ मुखिया की मृत्यु पर आर्थिक सहायता प्रदान करना।
  4.  निःशक्त व्यक्तियों को उनकी आवश्यकता, क्षमता व पारिवारिक परिवेष के अनुरूप पुनर्वास सेवाएं।
  5.  विधि अवरूद्ध एवं देखरेख की अपेक्षा रखने वाले बच्चों के लिए सामाजिक सुरक्षा व पुनर्वास की व्यवस्था।
  6. वयोवृद्ध / वरिष्ठ नागरिकों को संस्थागत सेवाएं।
  7. तृतीय लिंग व्यक्तियों के समग्र पुनर्वास के लिए योजनाओं का संचालन।
  8. नशामुक्ति के प्रति सकारात्मक वातावरण का निर्माण।
  9.  स्थानीय कला के माध्यम से शासन की योजना का प्रचार-प्रसार।